Royal Rajput Shayari in Hindi, Attitude of Rajputana Status And Quotes

Rajput Shayari

Rajput image shayari, rajput hindi shayari, rajput shayari hindi me, rajput the great shayari hindi, rajput ki shayari, shayari of rajput, veer rajput shayari in hindi, rajput sher o shayari, shayari for rajput, hindi rajput shayari, rajput shayari wallpaper, Royal shayari status, rajput shayari in urdu, rajput shayari download.

Rajput, rajput quotes, rajput history, rajput caste, attitude quotes in hindi, rajput hindi quotes, royal rajputana status, badmashi status,  rajput attitude status in hindi, rajput Royal status in hindi, Royal status in hindi.
Badmashi status in hindi,  rajput status attitude, thakur status, rajput attitude quotes in hindi, rajput shayari hindi me, rajputana hindi attitude status, rajputana status in gujarati, royal rajputana status hindi, rajputana status for fb 

“दो दो मेला नित भरे, पूजे दो दो थोरसर कटियो जिण थोर पर, 
धड जुझ्यो जिण थोर ”
मतलबएक राजपूत की समाधी पे दो दो जगह मेले लगते है,
 पहला जहाँ उसका सर कटा था
 और दूसरा जहाँ उसका धड लड़ते हुए गिरा था.



दशहत बनाओ तो शेर जैसी
वरना
खाली डराना तो कुत्ते भी जानते है
#राजपूत हो तो खूंखार होना चाहिये वरना खूबसूरत तो लड़िकयां
भी होती है !!



जिस दिन राजपूतों की सरकार बन गई ना तो..
अयोध्या में राम मन्दिर क्या.
पाकिस्तान में भी माँ भवानी का थान बना देगें



सोढा ना होय राज ने
तलवारे थाता काज।
पंचरंगी पाघडीये सोढो ओडखाय आज।
माँलण तारा रखोपा
ने संच्चियार ना होय द्वार ।
कोई ना बापनीय तेवड नथी के आवे सिमाडे पार ।



Public City कि ऊन आवारा लोगो को होती है,
जो बस Angrej बन के घुमते है
और हम बापू जहा खडे होते है,
Public City नही खुद Public Demand करती है !



ना हम केसरिया रंग छोड़ सकतेहैं
ना ही जीने का ढंग छोड़ सकते है
क्षत्रिय है हम
न ‪Attitude ए  दबंग छोड़‬ सकतेहै
न ही ‪#‎ जंग ए  Rajputana छोड़‬ सकते है



तलवार चली गयी होगी पर..
तजुर्बे नही गये हाथो से!!
तुम हथीयार लेकर भी हार जाओगे!!



Rajput Shayari

New Status For Rajput Brothers




दिल्ल का दरबार हो या GOVERNMENT की सरकार,
हमको कोई फर्क नहीं पड़ता
क्योंकि  हम उस राजघराने में पैदा हुए हैं
जहाँ हमारा नाम सुनकर बंदूके भी रिवर्स फायर ठोक देती हैं



बेटा ये बंदा किसी की सुनेगा नहीं
क्यूकी दरबार
ये कोई  नाम नहीं ख़ुद एक ब्राण्ड हैं.
जय माताजी।



रखते हैं ‪‎मूछो‬ को ताव देकर , यारी निभाते हैं जान देकर .
खौफ खाती है ‪‎दुनिया‬ हमसे, क्योंकि हम जीते है ‪‎शेरो‬ की दहाड़ लेकर .



आधुनिक युग में 2G 3G और 4G भी आ गए हैं
निकट भविष्य में 5G 6G. और न जाने कितने G. आयेंगे
परन्तु याद रहे भारत का काम “बन्ना जी” के बगैर नहीं चलेगा ।



जंगल के उसुल वही जानता है
जिनकी यारी हम जैसे शेरों के साथ होती है



हमारी Personality को पढ़ा मत करो दोस्त,
हमें समजने में तुम्हारी Dictionary कम पड़ जायेगी.



डरते तो हम किसि के बापसे भी नही,
बस साला ये #Respect नाम की चीज बीचमें आती है.



Rajput Shayari



बापू हाथ किसी का थामकर छोङते नहीँ…
वादा अगर किसी से करे तो तोङते नही..
अगर तोङ दे दिल कोई Bapu का,
तो बिना हाथ पैर तोङे छोङते नही



हम सल्तनत देख कर दोस्ती नहीं करते
और परिणाम सोचकर दुश्मनी नहीं करते !



जो राजपूत क्षत्रिय समाज के हित में चिंतन नहीं कर सकता,
वह कुँवर,सिंह,और राजपूत लगाना छोड़ दे
राजपुत सिर्फ नाम नहीं इक प्रतिक हे त्याग का ,
बलिदान का,निडरता का,कर्मठता का,विश्वास का,सुरक्षा का।।।
जय राजपुताना
जय महाराणा।।



गर हम कब्रिस्तान से भी गुज़रते है तो मुर्दे उठ
कर कहते है…
“जय माताजी की बना”
सर पे हे केसरिया साफा ‘



मुख पे हे सोने सी आभा’
जब हाथ मे लेते हैं तलवार
दुनिया करती है कोटि कोटि आभार !



किसी‬ ने ‪मुझ‬ से ‪कहा‬ ‪बहुत‬ ‪खुबसुरत‬ status‬ ‪लिखते‬ हो Thakur,
मेने कहा #खुबसुरत वो‬ thakur‬ ‪हे‬ ‪जिसके‬ लिए ‪हम‬ लिखा‬ करते‬ है..



हाथ तो हम जोड़ते हैं सिर्फ मां भवानी  के  आगे
वरना हम राजपुत तो वह है जो मौत को भी घुंघरु पहनाकर अपने दरबार में  मुजरा कऱवा दे..!!



जब हम सिंहासन पर बैठते हैं तो,राजा कहलाते है ,
जब हम घोङे पर सवार होते तो,योध्दा कहलाते है !
जब हम किसी की जान बचाते है तो,श्रत्रिय कहलाते है!
जब हम किसी को वचन देते है तो “राजपुत” कहलाते है !



जो मच्छर से डर जाता है,
उसका खून भी लाल होता है।
जो शेर से लड़ जाता है,
उसका खून भी लाल होता है।।
लेकिन एक अजब खून का
जलवा तो गजब पुत का होता है!!
जो मौत को भी ललकारे वो खून
राजपूत का होता है !



जमाने ने राजपूतो के
उसूल तो बदल दिये
पर
रगों मे खून आज
भी वो ही है.. ।।



झुंड मे रहने वालो आजमा कर
देखना कभी हमारी छाती पर फौलाद भी पिघलता है।
शेर सा जिगरा है “राजपूत”
हमेसा अकेला निकलता है।



गुलामी तो हम सिर्फ अपने माँ बाप की करते है .!!
दुनिया के लिये तो कल भी बादशाह थे और आज
भी..!!

By admin

One thought on “Mahakal And Rajputana Attitude Status”

Leave a Reply

Your email address will not be published.